Best Friendship Shayari

Best Friendship Shayari

Best Friendship Shayari इस Best Shayari के Collection में आपका स्वागत है दोस्तों ...

 

याराना इतना बरकरार रखो कि मजहब बीच में न आये...
कभी तुम उसे मंदिर तक छोड़ दो...
कभी वो तुम्हें मस्जिद तक छोड़ आये...

 

हद है यारी की मेरे यार...
तूने जान भी दे दी मेरी जिंदगी के लिए...

 

आजमाना अपनी यारी को पतझड़ में ऐ मेरे दोस्त...
सावन में तो हर पत्ता हरा नजर ही आता है...

 

दोस्ती का फर्ज कुछ इस तरह निभा जायेंगे...
अगर रहीम रहे भूखा तो राम से भी ना खाया जाए...

 

दोस्ती का उम्र से कोई लेना-देना नहीं होता है यारों...
जहाँ सोच मिलती है वहाँ पर ही सच्ची दोस्ती होती है...

 

मैने कहा खुदा से क्या खूब दोस्त मिले हैं मुझे...
क्या खूब मैंने किस्मत है पाई...
तब खुदा ने हँस कर कहा संभाल कर रख इसे...
ये तो मेरी पसंद है जो तेरे हिस्से में आई है...

 

कौन होता है दोस्त? दोस्त वो जो बिन बुलाये आये...
बेवजह सर खाए, जेब खाली करवाए...
कभी सताए, कभी रुलाये, मगर हमेशा साथ निभाए...

 

अभी तो जवानी है बहुत यार अगर हो सके तो...
जो तुम्हारी झुर्रियाँ भी चुमे कोई ऐसा दिलबर तलाश करना...

 

ऐ मेरे दोस्त अब क्या लिखूँ मैं तेरी तारीफ में...
क्योंकि बड़ा खास है तू मेरी जिन्दगी में...

 

करनी है खुदा से गुजारिश कि तेरी दोस्ती के सिवा...
कोई बंदगी ना मिले, हर जन्म में मिले दोस्त तेरा जैसा...
या फिर कभी मुझे ये जिंदगी ना मिले यार... 

 

इतना प्यार पाया है आपसे, उससे ज्यादा पाने को...
जी चाहता है ना जाने वो कौन सी खूबी है आपमें...
कि आपसे दोस्ती निभाने को मेरा जी चाहता है...

 

हम तो दोस्तों के दिवाने हैं इसलिए अपने हाथ फैला दिए...
वरना हम तो खुद के लिए भी दुआ नहीं करते हैं...

 

दोस्ती एक वो एहसास होता है...
जो अनजाने लोगों को भी पास लाता है...
जो हर पल साथ दे वही दोस्त कहलाता है...
वरना तो अपना साया भी साथ छोड़ जाता है...

 

दावे दोस्ती के मुझे नहीं आते यारों...
एक जान है जब दिल चाहे माँग लेना...

 

हाथ थामा है तो भरोसा भी रखना...
दोस्त खुद डूब जायेंगे पर तुझे डूबने नहीं देंगे...

 

दोस्ती एक खुली हुई किताब ही तो है...
समझ वही सकता है जिसके दिल में फरेब ना हो...

 

दोस्त साथ हो तो रोने में भी शान है...
दोस्त के बिना महफिल में भी शमशान है...

 

मिलना बिछड़ना सब किस्मत का खेल है...
कभी नफरत तो कभी दिलों का मेल है...
बिक जाता है हर रिश्ता इस जमाने में...
सिर्फ दोस्ती ही नहीं बिकती इस जमाने में...

 

मिलती है खुशी तेरे आ जाने से...
रंगों में छटक है तेरे मुस्कुराने से...

 

दोस्त तू मिले हर जन्म में मुझे...
जलेगी ये दुनिया अपने याराने से...

 

जिगरी दोस्ती वो थी...
जब मेरे दोस्त ने मुझे गले लगा कर कहा कि...
दौलत भी है, शोहरत भी है और इज्जत भी है...
पर तेरे बिना ये सब बेकार है मेरे यार...

 

दोस्ती करो तो हमेशा मुस्कुरा कर करो...
किसी को धोखा न दो अपना बनाकर...
कर लो याद जब तक हम जिंदा हैं...
फिर न कहना चले गए दिल में यादे बसाकर...

 

सुबह की चाय और दोस्तों की राय...
कभी गलत नहीं होती...

 

गुनाह करके सजा से डरते हैं...
जहर पीकर दवा से डरते हैं...
दुश्मनों के सितम का खौफ नहीं...
हम तो दोस्तों के जुदा होने से डरते हैं...

 

दोस्ती प्यार से भी बड़ी है...
क्योंकि दोस्त कभी बेवफा नहीं होते...

 

जिंदगी में इतना भी अमीर मत हो जाना...
कि तुम दिल से दोस्तों को भूल जाओ...

 

मुझे पागलों से दोस्ती करना पसंद है साहब...
क्योंकि मुसीबत में कोई समझदार काम नहीं आता...

 

उपर वाला जिन्हें खून के रिश्ते में बांधना भूल जाता है...
उन्हें सच्चे दोस्त बनाकर अपनी भूल सुधार देता है...

 

बेशक कुछ वक़्त का इंतजार मिला है हमको...
पर इस जहान से बढ़कर यार मिला है  हमको...
न रही तमन्ना किसी जन्नत में जाने की हमें...
ऐ दोस्त तेरी दोस्ती से वो प्यार मिला है हमको...

 

हमें दो चीजों का शौक है पहला दोस्ती जान तक...
और दुसरा दुश्मनी शमशान तक...

 

हर पल की दोस्ती का इरादा है आपसे...
अपनापन ही कुछ ज्यादा है आपसे...
साथ रहेंगे आपके उम्र भर के लिए...
हमेशा दोस्ती निभाएंगे ये वादा है आपसे...

 

आपकी दोस्ती ने हमें जीना सीखा दिया...
रोते हुए दिल को हंसना सीखा दिया...
कर्जदार रहेंगे हम उस खुदा के भी...
जिसने आप जैसे दोस्त से हमें मिला दिया...

 

वादा करते हैं आपसे हमेशा दोस्ती निभाएंगे...
कोशिश यही रहेगी आपको नहीं सताएंगे...
जरूरत कभी पड़े तो दिल से पुकार लेना...
किसी और के दिल में होंगे तो भी चले आयेंगे...

 

तू दूर है मुझसे और पास भी है...
मुझे तेरी कमी का अहसास भी है...
दोस्त तो हमारे लाखों हैं इस जहां में...
पर तू प्यारा भी है और तो खास भी है...

 

दोस्ती सच्ची और अच्छी होनी चाहिए...
पक्की तो सड़क भी होती है...

 

ना ही लड़कियों में Interest था ना पढाई का जज्बा था...
बस 4-5 यार मिल गए और Last Bench पर कब्जा था...

 

शरीफ तो हम बचपन से थे पर क्या करें...
दिल तोड़ना लड़कियों ने सिखाया और...
हड्डियां तोड़ना तो यारों ने सिखा दिया...

 

स्टाइल ऐसा करो कि दुनिया देखती जाए और...
यारी ऐसी करो कि दुनिया जलती रह जाए...

 

वक़्त की यारी तो हर कोई करता है मेरे दोस्त...
मजा तो तब आये जब वक़्त बदल जाये पर यार ना बदले...

 

दोस्त वो नहीं जो आपकी किसी बात का बुरा मान जाता है...
दोस्त वो है जिसको तुम कित्ना भी जलील करते रहो...
और वो साला फिर भी हमेशा मुस्कुराता रहे...

 

उस दोस्त की दोस्ती पर कभी शक मत करना...
जो College जाने के लिए Daily अपनी Bike लेकर...
तुम्हें तुम्हारे घर से लेने आता हो... 

 

लकीरें तो हमारी भी बहुत खास है...
तभी तो तुम जैसा दोस्त मेरे पास है...

 

Best Friendship Shayari

के इस अच्छे Collection में से अगर आप Shayari के किसी Photo को Download करना चाहते हैं तो बस आपको उस Photo पर Click करना है और तुरंत HD Photo Download हो जायेगा फिर आप उसे आप अपने दोस्तों के साथ Share कर सकते हैं।

( HD PHOTOS VERY SOON )

Thank You ... Friends

 


Popular Post


Recent Post